चैप्टर 5 रेबेका उपन्यास डेफ्ने ड्यू मौरिएर | Chapter 5 Rebecca Novel In Hindi Daphne du Maurier

Chapter 5 Rebecca Novel In Hindi Daphne du Maurier Prev | Next | All Chapters  मुझे इस बात की प्रसन्नता है कि प्रथम प्रेम का ज्वर एक बार ही चढ़ता है। कवि लोग चाहे कुछ भी कहें, प्रेम एक बीमारी है और साथ ही एक बोझ भी। बीस इक्कीस वर्ष की आयु बड़ी कायरता की … Read more

चैप्टर 4 रेबेका उपन्यास डेफ्ने ड्यू मौरिएर | Chapter 4 Rebecca Novel In Hindi Daphne du Maurier

Chapter 4 Rebecca Novel In Hindi Daphne du Maurier Prev | Next | All Chapters  हवा इतनी तेज चल रही थी कि मैं रेखाचित्र न बना सकी। मस्त पवन ने कागज के टुकड़े-टुकड़े कर दिए। इसलिए हम फिर कार में लौट गए और पता नहीं वे किस ओर ले चले। लंबी सड़क को पार कर … Read more

प्रायश्चित मुंशी प्रेमचंद की कहानी | Prayashchit Short Story By Munshi Premchand

प्रस्तुत है – प्रायश्चित मुंशी प्रेमचंद की कहानी (Prayashchit Munshi Premchand Ki Kahani) Prayashchit Short Story By Munshi Premchand  ईर्ष्यावश अपने बचपन के मित्र और तत्कालीन अफसर के साथ किये गए विश्वासघात और फिर उसके प्रायश्चित की कहानी. Prayashchit Munshi Premchand Ki Kahani दफ्तर में ज़रा देर से आना अफसरों की शान है। जितना ही … Read more

चैप्टर 3 रेबेका उपन्यास डेफ्ने ड्यू मौरिएर | Chapter 3 Rebecca Novel In Hindi

Chapter 3 Rebecca Novel In Hindi Prev | Next | All Chapters  अगले दिन सुबह जब श्रीमती हॉपर जागी, तब उनके हलक में दर्द था और उन्हें 102 डिग्री बुखार चढ़ा हुआ था। मैंने उनके डॉक्टर को फोन किया। उसने फौरन आकर उनकी परीक्षा की और बताया कि सदा की भांति उन्हें इनफ्लुएंजा हो गया … Read more

जुड़वा भाई मुंशी प्रेमचंद की कहानी | Judwan Bhai Short Story By Munshi Premchand

प्रस्तुत है -जुड़वा भाई मुंशी प्रेमचंद की कहानी (Judwan Bhai Munshi Premchand Ki Kahani) Judwan Bhai Short Story By Munshi Premchand बचपन में बिछड़ गए दो जुड़वा भाइयों की कहानी, जो भिन्न परिस्थितियों में पले-बढ़े. क्या हुआ जब भेंट हुई? जानने के लिए पढ़िए :  Judwan Bhai Munshi Premchand Ki Kahani कभी-कभी मू्र्ख मर्द ज़रा-ज़रा-सी … Read more

सुहाग की साड़ी मुंशी प्रेमचंद की कहानी | Suhag Ki Saree Munshi Premchand Ki Kahani

प्रस्तुत है – सुहाग की साड़ी मुंशी प्रेमचंद की कहानी (Suhag Ki Saree Munshi Premchand Ki Kahani) Suhag Ki Saree Short Story By Munshi Premchand विदेशी वस्त्रों के बहिष्कार के समय पत्नी की मनोस्थिति का वर्णन करती कहानी, जब उससे उसकी सुहाग की साड़ी वस्त्रों की होली जलाने के लिए मांगी जाती है. Suhag Ki … Read more

चैप्टर 5 कांच की चूड़ियाँ उपन्यास गुलशन नंदा

Chapter 5 Kanch Ki Chudiyan Novel By Gulshan Nanda Prev | Next | All Chapter जन्माष्टमी का दिन था। बंसी काम से सीधे ही घर लौट आया। दिन के उजाले में घर आना उसे बड़ा विचित्र लग रहा था। इससे पूर्व उसे किसी त्यौहार पर छुट्टी नहीं मिली थी। शरत और मंजू मारे प्रसन्नता से … Read more

चैप्टर 4 कांच की चूड़ियाँ उपन्यास गुलशन नंदा

Chapter 4 Kanch Ki Chudiyan Novel By Gulshan Nanda Prev | Next | All Chapter दोपहर हो चुकी थी। नदी को लोगों ने जितना कूद फांद कर छेड़ा था, वह उतने ही मौन बही जा रही थी। सैकड़ों लोगों के पाप उसने अपने वक्ष में छिपा लिए थे। गंगा जब स्नान के लिए नदी में … Read more

चैप्टर 2 रेबेका उपन्यास डेफ्ने ड्यू मौरिएर

Chapter 2 Rebecca Novel In Hindi Prev | Next | All Chapters  आज मैं सोचती हूँ कि यदि श्रीमती हॉपर इतनी बनने वाली न होती, तो न जाने मेरा जीवन कैसा होता। यह सोचकर हँसी सी आती है कि मेरा उस समय का जीवन श्रीमती हॉपर की इसी विशेषता के कच्चे धागे में लटक रहा … Read more

चैप्टर 1 रेबेका उपन्यास डेफ्ने ड्यू मौरिएर

Chapter 1 Rebecca Novel In Hindi Next | All Chapters अतीत की स्मृतियाँ आज मेरी आँखों के सामने एक-एक करके नाच रहे हैं और समय की दूरी को एक पुल की भांति पाटे दे रही है। अपना उस समय का रूप मैं साफ-साफ देख रही हूँ। कटे हुए सीधे बाल, बिना पाउडर लगे मुख पर … Read more