चैप्टर 4 – निर्मला : मुंशी प्रेमचंद का उपन्यास | Chapter 4 Nirmala Novel By Munshi Premchand In Hindi Read Online

Chapter 4 Nirmala Munshi Premchand Novel Chapter 1 | 2| 3| 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 | 10 | 11 | 12 | 13 | 14 | 15 | 16 | 17 | 18 | 19 | 20 | 21 | 22 | 23 | 24 | 25 Prev Part | Next Part कल्याणी के सामने अब एक विषम समस्या आ खड़ी हुई. पति के देहांत के … Read more

चैप्टर 12 : ज़िन्दगी गुलज़ार है | Chapter 12 Zindagi Gulzar Hai Novel In Hindi

Chapter 12 Zindagi Gulzar Hai Novel In Hindi Chapter 1 | 2| 3 | 4 | 5| 6| 7| 8 | 9| 10 | 11 | 12 | 13 | 14 | 15 | 16| 17 | 18 | 19 | 20 | 21| 22 | 23 | 24 | 25 | 26 | 27 | 28 | 29 | 30 | 31 | 32 | 33 | 34 | 35 | 36 | 37 … Read more

चैप्टर 3 – निर्मला : मुंशी प्रेमचंद का उपन्यास | Chapter 3 Nirmala Novel By Munshi Premchand In Hindi Read Online

Chapter 3 Nirmala Munshi Premchand Novel Chapter 1 | 2| 3| 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 | 10 | 11 | 12 | 13 | 14 | 15 | 16 | 17 | 18 | 19 | 20 | 21 | 22 | 23 | 24 | 25 Prev Part | Next Part विवाह का विलाप और अनाथों का रोना सुनाकर हम पाठकों का दिल न दुखाएंगे. … Read more

चैप्टर 2 – निर्मला : मुंशी प्रेमचंद का उपन्यास | Chapter 2 Nirmala Novel By Munshi Premchand In Hindi Read Online

Chapter 2 Nirmala Munshi Premchand Novel    Chapter 1 | 2| 3| 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 | 10 | 11 | 12 | 13 | 14 | 15 | 16 | 17 | 18 | 19 | 20 | 21 | 22 | 23 | 24 | 25 Prev Part | Next Part बाबू उदयभानुलाल का मकान बाज़ार बना हुआ है. बरामदे में सुनार के हथौड़े … Read more

चैप्टर 1 – निर्मला : मुंशी प्रेमचंद का उपन्यास | Chapter 1 Nirmala Novel By Munshi Premchand In Hindi Read Online

Chapter 1 Nirmala Munshi Premchand Novel  Chapter 1 | 2| 3| 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 | 10 | 11 | 12 | 13 | 14 | 15 | 16 | 17 | 18 | 19 | 20 | 21 | 22 | 23 | 24 | 25 Next Part यों तो बाबू उदयभानुलाल के परिवार में बीसों ही प्राणी थे, कोई ममेरा भाई था, कोई … Read more

चैप्टर 11 : ज़िन्दगी गुलज़ार है | Chapter 11 Zindagi Gulzar Hai Novel In Hindi

Chapter 11 ZindagiGulzar Hai Novel In Hindi Chapter 1 | 2| 3 | 4 | 5| 6| 7| 8 | 9| 10 | 11 | 12 | 13 | 14 | 15 | 16| 17 | 18 | 19 | 20 | 21| 22 | 23 | 24 | 25 | 26 | 27 | 28 | 29 | 30 | 31 | 32 | 33 | 34 | 35 | 36 | 37 | 38 … Read more

चैप्टर 10 : ज़िन्दगी गुलज़ार है | Chapter 10 Zindagi Gulzar Hai Novel In Hindi

Chapter 10 Zindagi Gulzar Hai Novel In Hindi Chapter 1 | 2| 3 | 4 | 5| 6| 7| 8 | 9| 10 | 11 | 12 | 13 | 14 | 15 | 16| 17 | 18 | 19 | 20 | 21| 22 | 23 | 24 | 25 | 26 | 27 | 28 | 29 | 30 | 31 | 32 | 33 | 34 | 35 | 36 | 37 … Read more

राही ~ सुभद्रा कुमारी चौहान की कहानी

Rahi Subhdra Kumari Chauhan Ki Kahani  “तेरा नाम क्या है?” “राही” “तुझे किस अपराध में सज़ा हुई?” “चोरी की थी, सरकार.” “चोरी? क्या चुराया था?” “अनाज की गठरी.” “कितना अनाज था?” “होगा पाँच-छः सेर.” “और सज़ा कितने दिन की है?” “साल भर की.” “तो तूने चोरी क्यों की? मजदूरी करती, तब भी तो दिन भर … Read more

चंद्रकांता चौथा अध्याय | Chandrakanta Chautha Adhyay

चंद्रकांता पहला अध्याय | दूसरा अध्याय | तीसरा अध्याय | चौथा अध्याय Chandrakanta Chautha Adhyay बयान – 1 वनकन्या को यकायक जमीन से निकल कर पैर पकड़ते देख वीरेंद्र सिंह एकदम घबरा उठे. देर तक सोचते रहे कि यह क्या मामला है, यहाँ वनकन्या क्यों कर आ पहुँची और यह योगी कौन हैं, जो इसकी … Read more