परिवर्तन सुदर्शन की कहानी | Parivartan Story By Sudarshan

परिवर्तन सुदर्शन की कहानी (Parivartan Story By Sudarshan) Parivartan Sudarshan Ki Kahani  Parivartan Story By Sudarshan लाजवंती के यहाँ कई पुत्र पैदा हुए; मगर सब-के-सब बचपन ही में मर गए। आखिरी पुत्र हेमराज उसके जीवन का सहारा था। उसका मुँह देखकर वह पहले बच्चों की मौत का ग़म भूल जाती थी। यद्यपि हेमराज का रंग-रूप … Read more

चैप्टर 10 कांच की चूड़ियाँ उपन्यास गुलशन नंदा | Chapter 10 Kanch Ki Chudiyan Novel By Gulshan Nanda

Chapter 10 Kanch Ki Chudiyan Novel By Gulshan Nanda Prev | Next | All Chapter हरी भरी घास की खेती झूम रही थी। जहाँ तक दृष्टि जाती, मलमल सी बिछी दिखाई देती। रूपा खेत की मुंडेर पर भागती गंगा को खोज रही थी। “गंगा, अरी ओ गंगा!” सखी को दूर से ही देख कर उसने … Read more

चैप्टर 30 रंगभूमि मुंशी प्रेमचंद का उपन्यास | Chapter 30 Rangbhoomi Novel By Munshi Premchand

Chapter 30 Rangbhoomi Novel By Munshi Premchand Prev | Next | All Chapters शहर अमीरों के रहने और क्रय-विक्रय का स्थान है। उसके बाहर की भूमि उनके मनोरंजन और विनोद की जगह है। उसके मध्यि भाग में उनके लड़कों की पाठशालाएँ और उनके मुकद़मेबाजी के अखाड़े होते हैं, जहाँ न्याय के बहाने गरीबों का गला … Read more

चैप्टर 29 रंगभूमि मुंशी प्रेमचंद का उपन्यास | Chapter 29 Rangbhoomi Novel By Munshi Premchand

Chapter 29 Rangbhoomi Novel By Munshi Premchand Prev | Next | All Chapters मिस्टर विलियम क्लार्क अपने अन्य स्वदेश-बंधुओं की भाँति सुरापान के भक्त थे, पर उसके वशीभूत न थे। वह भारतवासियों की भाँति पीकर छकना न जानते थे। घोड़े पर सवार होना जानते थे, उसे काबू से बाहर न होने देते थे। पर आज … Read more

लवर्स निर्मल वर्मा की कहानी | Lovers Short Story By Nirmal Verma 

लवर्स निर्मल वर्मा की कहानी ( Lovers Short Story By Nirmal Verma) Lovers Nirmal Verma Ki Kahani दो प्रेमियों की आखिरी मुलाक़ात की कहानी है. Lovers Short Story By Nirmal Verma  ‘एल्प्स’ के सामने कारीडोर में अंग्रेजी-अमरीकी पत्रिकाओं की दुकान है। सीढ़ियों के नीचे जो बित्ते-भर की जगह खाली रहती है, वहीं पर आमने-सामने दो बेंचें … Read more

पत्नी का पत्र रबीन्द्रनाथ टैगोर की कहानी | Patni Ka Patra Rabindranath Tagore Story

पत्नी का पत्र रबीन्द्रनाथ टैगोर की कहानी (Patni Ka Patra Rabindranath Tagore Story) Short Story Patni Ka Patra Rabindranath Tagore Ki Kahani तत्कालीन पितृ-सत्तात्मक परिवार में महिलाओं की दशा का प्रस्तुतीकरण है. Patni Ka Patra Rabindranath Tagore Story श्रीचरणकमलेषु, आज हमारे विवाह को पंद्रह वर्ष हो गए, लेकिन अभी तक मैंने कभी तुमको चिट्ठी न … Read more

चैप्टर 9 कांच की चूड़ियाँ उपन्यास गुलशन नंदा | Chapter 9 Kanch Ki Chudiyan Novel By Gulshan Nanda

Chapter 9 Kanch Ki Chudiyan Novel By Gulshan Nanda Prev | Next | All Chapter एक महीना अस्पताल में रहने के बाद बंसी आज अपने घर लौटा था। दांई टांग बेकार हो जाने के कारण काट दी गई थी। अभी वह बैसाखी का सहारा लेकर चलने के योग्य न हुआ था। उसकी अनुपस्थिति में उसके … Read more

पड़ोसन रवीन्द्रनाथ ठाकुर की कहानी | Padosan Story By Rabindranath Tagore (One Sided Love Story In Hindi )

पड़ोसन रवीन्द्रनाथ ठाकुर की कहानी – प्रेमकथा (Padosan Story By Rabindranath Tagore) Padosan Story By Rabindranath Tagore Ki Kahani – Hindi Love Story, One Sided Love Story In Hindi  रबीन्द्रनाथ की ये कहानी एक तरफा प्रेम की कहानी है, साथ ही विधवा विवाह जैसे सामाजिक मुद्दे पर भी प्रकाश डालती है. पढ़िए ये खूबसूरत Prem … Read more

चैप्टर 8 कांच की चूड़ियाँ उपन्यास गुलशन नंदा | Chapter 8 Kanch Ki Chudiyan Novel By Gulshan Nanda

Chapter 8 Kanch Ki Chudiyan Novel By Gulshan Nanda Prev | Next | All Chapter काम का भोंपू हुए आधे घंटे से अधिक बीत चुका था, किंतु कोई भी मजदूर अपने काम पर न लगा था। वह एक ही रट लगाए जा रहे थे कि जब तक शामू और सुखिया को वापस काम पर नहीं … Read more

चैप्टर 7 कांच की चूड़ियाँ उपन्यास गुलशन नंदा | Chapter 7 Kanch Ki Chudiyan Novel By Gulshan Nanda

Chapter 7 Kanch Ki Chudiyan Novel By Gulshan Nanda Prev | Next | All Chapter प्रताप के बंगले में प्रवेश करते ही बंसी रुक गया। तारामती अपने कमरे में बैठी रामायण पढ़ रही थी। यह मधुर वाणी और रामायण का पठन, वह कुछ समय तक वहीं खड़ा भक्ति रस में खोया रहा। जब भी वह … Read more