सुभाषित रत्न २ माधवराव सप्रे की कहानी | Subhashit Ratna 2 Madhavrao Sapre Ki Kahani

सुभाषित रत्न २ माधवराव सप्रे की कहानी (Subhashit Ratna 2 Madhavrao Sapre Ki Kahani Hindi Short Story) Subhashit Ratna 2 Madhavrao Sapre Ki Kahani एक दिन एक विद्वान ब्राह्मण किसी धनवान मनुष्य के पास गया और कहने लगा––”महाराज! मैं कुटुम्ब-वत्सल पंडित हूँ। आजकल भयंकर कराल-रूपी दुष्काल ने चारों ओर हाहाकार मचा दिया है। अन्न महंगा … Read more

सुभाषित रत्न १ माधवराव सप्रे की कहानी | Subhashit Ratna 1 Madhavrao Sapre Ki Kahani

सुभाषित रत्न १ माधवराव सप्रे की कहानी (Subhashit Ratna 1 Madhavrao Sapre Ki Kahani Hindi Short Story) Subhashit Ratna 1 Madhavrao Sapre Ki Kahani (१) कुठारमालिका दृष्ट्‌वा कम्पिताः सकला द्रुमाः। वृद्धस्तरुवाचेदं स्वजातिर्नैव दृश्यते॥ किसी समय एक माली बहुत-सी कुल्हाड़ियाँ रस्सी में बांध अपने बगीचे में गया। उसको देखते ही सब वृक्ष मारे डर के थर-थर … Read more

आजम माधवराव सप्रे की कहानी | Aajam Madhavrao Sapre Ki Kahani

आजम माधवराव सप्रे की कहानी (Aajam Madhavrao Sapre Ki Kahani Hindi Short Story) Aajam Madhavrao Sapre Ki Kahani  (Goldsmith’s Miscellaneous Essays के आधार पर रची हुई शिक्षा-विधायक एक कहानी) वह पुरुष पहिले बहुत धनवान था। वह प्राणिमात्र से प्रीति और नम्रतापूर्वक बरताव रखता था। भूखों को अन्न, प्यासे को पानी और नंगे को वस्त्र देना, … Read more

भाई की विदाई आचार्य चतुरसेन शास्त्री की कहानी | Bhai Ki Vidaai Acharya Chatursen Shastri Ki Kahani

भाई की विदाई आचार्य चतुरसेन शास्त्री की कहानी (Bhai Ki Vidaai Acharya Chatursen Shastri Ki Kahani Hindi Short Story) Bhai Ki Vidaai Acharya Chatursen Shastri (यह कहानी आचार्यजी ने १९३३ ई० में लिखी थी। क्रांतिकारी दस्यु-जीवन पर आधारित इस कहानी में कर्तव्यनिष्ठा और पवित्र प्रेम का सुंदर निर्वाह हुआ है। पढ़ते-पढ़ते व्यक्ति भावना-विभोर हो उठता … Read more

जामुन का पेड़ कृष्ण चंदर की कहानी | Jamun Ka Ped Krishan Chander Ki Kahani

जामुन का पेड़ कृष्ण चंदर की कहानी (Jamun Ka Ped Krishan Chander Ki Kahani Hindi Short Story) Jamun Ka Ped Krishan Chander रात को बड़े जोर का अंधड़ चला। सेक्रेटेरिएट के लॉन में जामुन का एक पेड़ गिर पडा। सुबह जब माली ने देखा तो उसे मालूम हुआ कि पेड़ के नीचे एक आदमी दबा … Read more

कल्याणी सुभद्रा कुमारी चौहान की कहानी | Kalyani Subhadra Kumari Chauhan Ki Kahani Hindi Short Story

कल्याणी सुभद्रा कुमारी चौहान की कहानी (Kalyani Subhadra Kumari Chauhan Ki Kahani Hindi Short Story) Kalyani Subhadra Kumari Chauhan Ki Kahani  विवाह के बाद नव-वधू को लेकर जब बैरिस्टर राधारमण घर लौट रहे थे, तब रास्ते में ही एक रेल दुर्घटना हो गई। कई बाराती घायल हो गए, दो का तो घटनास्थल पर ही अंत … Read more

बड़े घर की बात सुभद्रा कुमारी चौहान की कहानी | Bade Ghar Ki Baat Subhadra Kumari Chauhan Ki Kahani

बड़े घर की बात सुभद्रा कुमारी चौहान की कहानी (Bade Ghar Ki Baat Subhadra Kumari Chauhan Ki Kahani Hindi Short Story) Bade Ghar Ki Baat Subhadra Kumari Chauhan फूलशय्या के ही दिन फूल और मनोहर में तनातनी हो गई। फूल स्वभाव से ही कम बोलने वाली और लजीली थी। उधर मनोहर एंग्लो इंडियन छोकरियों के … Read more

ग्रीषा अंतोन चेखव की कहानी | Grisha Anton Chekhov Story In Hindi

ग्रीषा अंतोन चेखव की कहानी (Grisha Anton Chekhov Story In Hindi) Grisha Anton Chekhov Ki Kahani  Grisha Anton Chekhov Story In Hindi  दो साल और सात महीने पहले पैदा हुआ ग्रीषा नाम का एक छोटा और मोटा-सा लड़का अपनी आया के साथ बाहर गली में घूम रहा है। उसके गले में मफ़लर है, सिर पर … Read more

अमृत मुंशी प्रेमचंद की कहानी | Amrit Munshi Premchand Ki Kahani

अमृत मुंशी प्रेमचंद की कहानी (Amrit Munshi Premchand Ki Kahani Hindi Short Story) Amrit Munshi Premchand Story  (1) मेरी उठती जवानी थी, जब मेरा दिल दर्द के मजे से परिचित हुआ। कुछ दिनों तक शायरी का अभ्यास करता रहा और धीर-धीरे इस शौक ने तल्लीनता का रुप ले लिया। सांसारिक संबंधो से मुंह मोड़कर अपनी … Read more

धूप का एक टुकड़ा निर्मल वर्मा कहानी | Dhoop Ka Ek Tukda Nirmal Verma Ki Kahani

धूप का एक टुकड़ा निर्मल वर्मा कहानी (Dhoop Ka Ek Tukda Nirmal Verma Ki Kahani Short Hindi Story) Dhoop Ka Ek Tukda Nirmal Verma क्या मैं इस बेंच पर बैठ सकती हूँ? नहीं, आप उठिए नहीं – मेरे लिए यह कोना ही काफ़ी है। आप शायद हैरान होंगे कि मैं दूसरी बेंच पर क्यों नहीं … Read more