अलबम ~ सुदर्शन की कहानी | Album Story In Hindi By Sudarshan

Album Story In Hindi By Sudarshan पंडित शादीराम ने ठंडी साँस भरी और सोचने लगे-क्या यह ऋण कभी सिर से न उतरेगा? वे निर्धन थे,परंतु दिल के बुरे न थे। वे चाहते थे कि चाहे जिस भी प्रकार हो,अपने यजमान लाला सदानंद का रुपया अदा कर दें। उनके लिए एक-एक पैसा मोहर के बराबर था। … Read more

समर-यात्रा ~ मुंशी प्रेमचंद की कहानी | Samar Yatra Munshi Premchand Ki kahani

Samar Yatra Munshi Premchand Ki kahani (1) आज सबेरे ही से गाँव में हलचल मची हुई थी। कच्ची झोपड़ियाँ हँसती हुई जान पड़ती थी। आज सत्याग्रहियों का जत्था गाँव में आयेगा। कोदई चौधरी के द्वार पर चँदोवा तना हुआ है। आटा, घी, तरकारी, दूध और दही जमा किया जा रहा है। सबके चेहरों पर उमंग … Read more

नाग पूजा ~ मुंशी प्रेमचंद की कहानी | Naag Pooja Munshi Premchand Ki kahani

 Naag Pooja Munshi Premchand Ki kahani (१) प्रात:काल था। आषढ़ का पहला दौंगड़ा निकल गया था। कीट-पतंग चारों तरफ रेंगते दिखायी देते थे। तिलोत्तमा ने वाटिका की ओर देखा तो वृक्ष और पौधे ऐसे निखर गये थे, जैसे साबुन से मैने कपड़े निखर जाते हैं। उन पर एक विचित्र आध्यात्मिक शोभा छायी हुई थी मानो … Read more

कप्तान साहब ~ मुंशी प्रेमचंद की कहानी | Kaptaan Sahab Munshi Premchand Ki Kahani

Kaptaan Sahab Munshi Premchand Ki Kahani जगत सिंह को स्कूल जाना कुनैन खाने या मछली का तेल पीने से कम अप्रिय न था। वह सैलानी, आवारा, घुमक्कड़ युवक था, कभी अमरूद के बागों की ओर निकल जाता और अमरूदों के साथ माली की गालियाँ बड़े शौक से खाता। कभी दरिया की सैर करता और मल्लाहों … Read more

निर्वासन मुंशी प्रेमचंद की कहानी : मानसरोवर भाग – 3 | Nirvasan Munshi Premchand Ki Kahani

प्रस्तुत है “निर्वासन मुंशी प्रेमचंद की कहानी मानसरोवर भाग – 3” (Nirvasan Munshi Premchand Ki Kahani Mansarovar Bhag 3) Nirwasan Story Munshi Premchand तत्कालीन पुरुष सत्तात्मक समाज में महिलाओं की स्थिति पर प्रकाश डालता है। परशुराम की स्त्री मेले में खो गई और सात दिन बाद घर लौटी। उसके बाद प्रारंभ हुआ प्रश्नोत्तर का सिलसिला, … Read more

रसिक संपादक मुंशी प्रेमचंद की कहानी (मानसरोवर भाग – 1) | Rasik Sampadak Munshi Premchand Ki Kahani

रसिक संपादक मुंशी प्रेमचंद की कहानी | Rasik Sampadak Munshi Premchand Ki Kahani. Rasik Sampadak Munshi Premchand Story उनके कहानी संग्रह मानसरोवर भाग – 1 की कहानी है, जो एक रसिक मिज़ाज संपादक की मनोस्थिति का वर्णन करती है. Rasik Sampadak Munshi Premchand Ki Kahani ‘नवरस’ के संपादक पं. चोखेलाल शर्मा की धर्मपत्नी का जब … Read more

स्त्री और पुरुष मुंशी प्रेमचंद की कहानी | Stree Aur Purush Munshi Premchand Ki Kahani

प्रस्तुत है “स्त्री और पुरुष मुंशी प्रेमचंद की कहानी” (Stree Aur Purush Munshi Premchand Ki Kahani) Stree Aur Purush Story Munshi Premchand आशा और विपिन की कहानी है। रूपवान विपिन सौंदर्य का पुजारी था। उसे रूपवती पत्नी की आकांक्षा थी, किंतु उसके जीवन में आ गई आशा जैसी कुरूपा स्त्री। क्या विपिन आशा को अपना … Read more

नमक का दरोगा ~ मुंशी प्रेमचंद की कहानी

Namak Ka Daroga Munshi Premchand Ki Kahani जब नमक का नया विभाग बना और ईश्वरप्रदत्त वस्तु के व्यवहार करने का निषेध हो गया, तो लोग चोरी-छिपे इसका व्यापार करने लगे। अनेक प्रकार के छल-प्रपंचों का सूत्रपात हुआ, कोई घूस से काम निकालता था, कोई चालाकी से। अधिकारियों के पौ-बारह थे। पटवारीगिरी का सर्वसम्मानित पद छोड़-छोड़कर … Read more

एकादशी सुभद्रा कुमारी चौहान की कहानी | Ekadashi Story By Subhadra Kumari Chauhan

प्रस्तुत है – एकादशी सुभद्रा कुमारी चौहान की कहानी (Ekadashi Story By Subhadra Kumari Chauhan) Subhadra Kumari Chauhan Story Ekadashi तत्कालीन भारतीय समाज में विधवा स्त्रियों की स्थिति के चित्रण के साथ उस दौर में चले धर्म सुधार आंदोलन, धर्म परिवर्तन के विरुद्ध आंदोलनों का वर्णन करती है। ये एक ऐसी बाल विधवा बालिका की … Read more

पंच परमेश्वर ~ मुंशी प्रेमचंद की कहानी | Panch Parmeshwar Munshi Premchand Ki Kahani

Panch Parmeshwar Munshi Premchand Ki Kahani (१) जुम्मन शेख अलगू चौधरी में गाढ़ी मित्रता थी। साझे में खेती होती थी। कुछ लेन-देन में भी साझा था। एक को दूसरे पर अटल विश्वास था। जुम्मन जब हज करने गये थे, तब अपना घर अलगू को सौंप गये थे, और अलगू जब कभी बाहर जाते, तो जुम्मन पर अपना घर … Read more