The Lion And The Mouse Story For Kids In Hindi

शेर और चूहा : बाल कथा 

The Lion And The Mouse Story For Kids In Hindi

The Lion And The Mouse Story For Kids In Hindi

एक शेर अपनी गुफा में सो रहा था. तभी कहीं से एक चूहा वहाँ आ गया और शेर के ऊपर चढ़कर कूद-कूदकर खेलने लगा. चूहे की इस धमाचौकड़ी से शेर की नींद टूट गई. आँखें खोलने पर उसने चूहे को अपने ऊपर कूदते हुए पाया. गुस्से में उसने चूहे को अपने पंजों में जकड़ लिया. वह उसे अपने पंजे में मसल देना चाहता था.

चूहा बहुत डर गया. उसे अब अपनी मौत सामने नज़र आ रही थी. उसने शेर से विनती की, “शेर महाराज! मुझसे बहुत बड़ी भूल हो गई. कृपया मुझ पर उपकार कीजिये और मुझे मत मारिये. अगर आप मुझे जाने देंगे, तो मैं आपका यह उपकार कभी नहीं भूलूंगा और समय आने पर आपके इस उपकार का मोल अवश्य चुकाऊँगा.

चूहे की बात सुनकर शेर हंसने लगा कि वह छोटा सा चूहा भला उसके लिए क्या कर पायेगा? लेकिन उसकी याचना सुनकर उसे उस पर दया आ गई और उसने उसे छोड़ दिया. चूहा शेर का धन्यवाद कर वहाँ से चला गया.

समय बीतता गया. एक दिन शेर जंगल में हमेशा की तरह शिकार की तलाश में निकला. घूमते-घूमते वह शिकारी के बिछाए जाल में फंस गया. उसने जाल से निकलने का बहुत प्रयास किया, लेकिन निकल नहीं पाया. वह सहायता के लिए जोर-जोर से दहाड़ने लगा.   

उसकी दहाड़ पास से गुजरते हुए चूहे के कानों में पड़ी. वह वहाँ पहुँचा, तो उसने शेर को जाल में फंसे हुए पाया. उसने तुरंत ही अपने नुकीले दांतों से शिकारी के जाल को काट दिया और शेर को आज़ाद कर दिया. चूहे की सहायता पर शेर ने उसे बहुत धन्यवाद दिया.

उस दिन शेर की समझ में आ गया कि किसी भी प्राणी की काबिलियत उसके बाहरी स्वरुप से नहीं आंकनी चाहिए और छोटे-बड़े का भेदभाव नहीं करना चाहिए. साथ ही यह भी कि किया गया उपकार कभी भी व्यर्थ नहीं जाता, उसका मोल अवश्य किसी न किसी रूप में प्राप्त होता है.

 

आप पढ़ रहे थे “The Lion And The Mouse Story For Kids In Hindi”. इन Kids Stories को भी अवश्य पढ़ें :

¤ शहर का चूहा और गाँव का चूहा : बालकथा 

 

दोस्तों, आपको यह कहानी कैसी लगी? आप अपने comments के माध्यम से हमें बता सकते हैं. धन्यवाद.

      

Posted in Story For Kids In Hindi and tagged .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *