The Costliest Present Tenali Ram story In hindi

सबसे कीमती उपहार : तेनाली राम की कहानी

The Costliest Present Tenali Ram story In hindi

The Costliest Present Tenali Ram story In hindi

एक बड़े युद्ध में विजय प्राप्त कर राज्य वापस लौटे राजा कृष्णदेव राय बहुत प्रसन्न थे. अपनी प्रसन्नता प्रदर्शित करते हुए उन्होंने सभी दरबारियों को उपहार वितरित करने का एलान किया.

एलान सुन सभी दरबारी राजदरबार पहुँच गए. उनको दिये जाने वाले उपहार एक बड़े कक्ष में रखे हुए थे. राजा ने उस कक्ष का द्वार खुलवा दिया और दरबारियों से कहा कि वे वहाँ से अपनी मनपसंद कोई भी वस्तु उठा लें. लेकिन सभी को वहाँ से एक ही वस्तु उठाने की अनुमति थी.

सभी दरबारियों ने कक्ष में जाकर अपने पसंद की एक-एक बेशकीमती वस्तुयें उठा ली. अंत में वहाँ केवल चांदी का एक पात्र ही शेष बचा. राजदरबार में सबसे अंत में आने वाले व्यक्ति को ये पात्र मिलने वाला था.

संयोग ऐसा हुआ कि उस दिन तेनालीराम राजदरबार में सबसे अंत में पहुँचा. यह देख उससे ईर्ष्या करने वाले अन्य सभी दरबारी बहुत प्रसन्न हुए. उन्हें तेनाली राम को यह कह चिढ़ाने और नीचा दिखने का अवसर मिल गया था कि उसे एक बहुत ही साधारण सा उपहार प्राप्त हुआ है.

दरबार में प्रवेश करने पर तेनालीराम ने देखा कि सभी दरबारी बेशकीमती उपहार पकड़े हुए हैं. किसी ने अमूल्य सोने का हार धारण किया हुआ है, तो किसी ने हीरे की अंगूठी. तेनालीराम तुरंत सब कुछ समझ गया. वह शांति से कक्ष में गया और चांदी का वह पात्र उठा लिया.

चांदी का पात्र उठाने के उपरांत तेनालीराम उसे अपने कपड़ों में छुपाने लगा. उसे ऐसा करते हुए देख राजा आश्चर्यचकित हुए और पूछ बैठे, “तेनाली, तुम इस उपहार को इस तरह क्यों छुपा रहे हो?”

तेनालीराम ने उत्तर दिया, “महाराज, क्या करूं? मैं विवश हूँ. मैं आपका बहुत सम्मान करता हूँ और किसी भी रूप में आपका अपमान सहन नहीं कर सकता. आज तक सर्वदा मैंने आपसे कीमती उपहार प्राप्त किये हैं. लोगों ने जब भी वे उपहार देखें हैं, आपकी बहुत प्रशंषा की है और वह सुनकर मैंने बहुत गौरवान्वित अनुभव किया है. किंतु इस खाली पात्र को मैं लोगों को कैसे दिखा सकता हूँ? जाने वे लोग क्या कहेंगे?”

तेनालीराम के इस उत्तर से राजा बहुत प्रभावित हुए. उन्होंने तुरंत कीमती हार अपने गले से उतार कर उस खाली पात्र में डालते हुए कहा, ”तेनाली, आज भी तुम्हारा पात्र खाली नहीं रहेगा.”

समस्त ईर्ष्यालु दरबारी अपना सा मुँह लेकर तेनालीराम को देखते रह गए, जिसने राजा से सबसे कीमती उपहार प्राप्त कर लिया था.

 

दोस्तों आप पढ़ रहे थे – “The Costliest Present Tenali Ram story In hindi”. तेनालीराम की अन्य कहानियाँ भी अवश्य पढ़ें :

१. तेनाली राम की नियुक्ति

२. तेनाली राम और जादूगर

३. तेनाली राम और मनहूस

दोस्तों आपको “The Costliest Present Tenali Ram story In hindi” कैसी लगी? आप अपने comments के माध्यम से हमें बता सकते हैं. धन्यवाद.

 

Posted in Tenali Ram Stroies and tagged .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *