शिक्षाप्रद कहानियाँ


दर्जी की सीख 

21 September 2017

एक गाँव में एक लड़का रहता था. उसके पिता दर्जी थे. एक दिन स्कूल की जल्दी छुट्टी हो जाने पर वह अपने पिता की दुकान पर चला गया. वहाँ पहुँचकर वह एक कोने में बैठ गया और बड़े ही ध्यान से अपने पिता को कपड़े सीते हुए देखने लगा.


तस्वीर 

29 August 2017

एक शहर में एक चित्रकार रहता था. उसकी बनाई हुई तस्वीरें बहुत खूबसूरत हुआ करती थी. एक दिन उसने एक बहुत ही खूबसूरत तस्वीर बनाई और उसे ले जाकर शहर के चौराहे पर टांग दिया. तस्वीर के नीचे उसने लिख दिया – ‘इस तस्वीर में यदि कोई कमी दिखाई पड़े, तो उस जगह निशान लगा दे.’


बुरी आदतें

13 August 2017

एक गाँव में एक धनी व्यक्ति अपनी पत्नि और १० वर्ष के पुत्र के साथ रहता था. उसका पुत्र जैसे-जैसे बड़ा होता रहा था, उसमें बुरी आदतें घर करती जा रही थी. समझाने पर वह कहता कि अभी तो मैं छोटा हूँ. जब बड़ा हो जाऊँगा, तो सब छोड़ दूंगा.


एक लोटा दूध

4 Aug 2017

बहुत पुरानी बात है. एक हरा-भरा और खुशहाल गाँव था, जहाँ हमेशा हरियाली छाई रहती थी. लेकिन एक बार कई दिनों से बारिश नहीं होने के कारण गाँव में सूखा पड़ गया. पानी की कमी से खेत-खलिहान सूखने लगे और मवेशी मरने लगे.


The Angry Boy Moral Story in Hindiक्रोधी बालक

3 Aug 2017

एक गाँव में एक लड़का अपने माता-पिता के साथ रहता था. एकलौती संतान होने के कारण वह माता-पिता का बहुत लाड़ला था. उसके माता-पिता उसे चाहते तो बहुत थे, लेकिन उसकी एक आदत के कारण हमेशा परेशान रहते थे.


सड़े आलूRotten Potatoes Moral Story In Hindi

22 July 2017

एक दिन कक्षा में शिक्षक ने घोषणा की कि अगले दिन सभी विद्यार्थियों को एक थैले में आलू लेकर आना है. यह एक तरह का खेल होगा, जिसमें सब अपने साथ लाये आलुओं को उस लड़के या लड़की का नाम देंगे, जिससे वे सबसे ज्यादा नफ़रत करते हैं.


अभिमान अच्छा नहीं

30 June 2017

एक व्याकरण का पंडित नाव में बैठकर नदी पार कर रहा था. अपने व्याकरण के ज्ञान पर उसे बड़ा अभिमान था. वह जिससे भी मिलता, उसके समक्ष अपने ज्ञान का बखान कर उसे नीचा दिखाने का प्रयास किया करता था.


गुणवान पुत्र

27 June 2017

पनघट पर चार औरतें पानी भरने आई. पानी भरते हुए वे एक-दूसरे से बातें करने लगी. बातों-बातों में उन्होंने अपने बेटों के गुणों का बखान करना प्रारंभ कर दिया. पहली औरत बोली, “मेरा बेटा बहुत सुरीली बांसुरी बजाता है.


सबसे खुश पक्षी

25  June 2017

एक कौवा एक वन में रहा करता था. उसे कोई कष्ट नहीं था और वह अपने जीवन से पूरी तरह संतुष्ट था. एक दिन उड़ते हुए वह एक सरोवर के किनारे पहुँचा. वहाँ उसने एक उजले सफ़ेद हंस को तैरते हुए देखा. उसे देखकर वह सोचने लगा.


पेंसिल के गुण

20 June 2017

एक दिन एक बालक ने अपनी माँ को पत्र लिखते हुए देखा. वह उसके पास गया और पूछा, “माँ! तुम पत्र में क्या लिख रही हो? क्या तुम मेरी शरारतों के बारे में लिख रही हो?”

 


साक्षात्कार 

12 June 2017

एक युवक ने एक बड़ी कंपनी में मैनेजर की पोस्ट के लिए आवेदन किया. प्रारंभिक परीक्षा और पैनल का साक्षात्कार उत्तीर्ण करने के बाद उसे अंतिम साक्षात्कार के लिए कंपनी के डायरेक्टर के समक्ष उपस्थित होना था.


 फूटा घड़ा

11 June 2017

बहुत समय पहले की बात है. एक गांव में एक किसान रहता था. उसके पास दो घड़े थे. उन दोनों घड़ों को लेकर वह रोज़ सुबह अपने घर से बहुत दूर बहती एक नदी से पानी लेने जाया करता था.

 


चाय का कप

15 May 2017

एक बार कॉलेज के भूतपूर्व छात्रों का group अपनी यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर से मिलने पहुँचा. सभी काफी अरसे बाद मिल रहे थे. इन अरसों में सभी छात्र अपने-अपने करियर में बहुत अच्छी position हासिल कर चुके थे.

 


प्यार और समय

30 April 2017

एक टापू था, जहाँ सारी भावनायें (Feelings) रहा करती थी. एक दिन सभी भावनाओं को पता चला कि वह टापू डूबने वाला है. सबने अपने बचाव के लिए नांव का निर्माण किया और वह टापू छोड़कर जाने लगे. लेकिन ‘प्रेम’ वहीं रहा.


तीन तरह के लोग 

19 April 2017

एक दिन शिक्षक ने कक्षा में छात्रों को प्लास्टिक के तीन गुड्डे दिखाये और उनसे उन तीनों में अंतर ढूंढने को कहा. तीनों गुड्डे एक ही मटेरियल के बने थे और रचना तथा आकार में भी एक जैसे थे.