एक डॉलर की जर्सी : माइकल जॉर्डन का प्रेरक प्रसंग | Ek Dollar Ki Jursey Michael Jordan Prerak Prasang

माइकल जॉर्डन भूतपूर्व अमरीकी बास्केटबॉल खिलाड़ी हैं, जिन्होंने ६ NBA Championships में Chicago Bulls का प्रतिनिधित्व किया और ५ बार Most Valuable Player अवार्ड से नवाज़े गए. माइकल के जीवन को सही दिशा देने में उनके माता-पिता का बहुत बड़ा योगदान रहा. उन्होंने उन्हें सफलता प्राप्ति के लिए अनुशासन, सकारात्मक सोच और कर्मठता का पाठ पढ़ाया.

व्याख्या : अल्बर्ट आइंस्टीन का प्रेरक प्रसंग | Explanation Albert Einstein Prerak Prasang

अल्बर्ट आइंस्टीन एक महान वैज्ञानिक थे. भौतिक विज्ञान के क्षेत्र में किये गए महान कार्यों के कारण उन्हें आधुनिक भौतिक विज्ञान का जन्मदाता कहा जाता है. विज्ञान में रूचि रखने वाले लोग अक्सर मार्गदर्शन प्राप्त करने उनके पास आया करते थे और आइंस्टीन बड़े ही सरल शब्दों में उनके सारे प्रश्नों का उत्तर दिया करते थे.

मौत का सौदागर : अल्फ्रेड नोबेल का प्रेरक प्रसंग | Merchant Of Death Afred Nobel Prerak Prasang

यह वाक्या १८८८ का है. सुबह-सुबह एक व्यक्ति अखबार पढ़ रहा था. अखबार पढ़ते-पढ़ते अचानक उसकी नज़र “शोक-संदेश” के कॉलम पर पड़ी. अपना नाम वहाँ देखकर वह हैरान रह गया. गलती से अख़बार ने उसके भाई लुडविग के स्थान पर उसके निधन का समाचार प्रकाशित कर दिया था.

एक गिलास दूध : डॉ. हॉवर्ड केली का प्रेरक प्रसंग | A Glass Of Milk Dr Howard Kelly Prerak Prasang

एक गरीब लड़का अपनी पढ़ाई का खर्च निकालने के लिए घर-घर जाकर सामान बेचा करता था. एक बार पूरा दिन बीत जाने पर भी उसका एक भी सामान नहीं बिका. शाम हो आई थी और उसे जोरों की भूख लगने लगी थी. लेकिन उसके पास पैसे नहीं थे कि वह कुछ खरीद कर खा सके. उसने सोचा कि अब अगला जो भी घर होगा, वहाँ वह खाना मांग लेगा.

मिलियन डॉलर पेंटिंग : पाब्लो पिकासो का प्रेरक प्रसंग | Million Dollar Painting Pablo Picasso Prerak Prasang

Million Dollar Painting Pablo Picasso Prerak Prasang मिलियन डॉलर पेंटिंग : पाब्लो पिकासो का प्रेरक प्रसंग यह प्रेरक प्रसंग स्पेन के महान चित्रकार पाब्लो पिकासो का है. एक दिन एक […]

बुद्ध के आँसू गौतम बुद्ध का प्रेरक प्रसंग | Buddha Ke Ansoo Gautam Buddha Prerak Prasang

गौतम बुद्ध भ्रमण कर रहे थे. चलते-चलते वे आम के बगीचे में पहुँचे. वहाँ एक पेड़ के नीचे गिरे आमों को खाकर उन्होंने अपनी भूख शांत की और उसी पेड़ के नीचे आराम करने लगे. कुछ देर बाद बगीचे में युवकों का एक झुण्ड आया. वे पत्थर मारकर आम तोड़ने लगे. वे इस बात से पूरी तरह अनभिज्ञ थे कि उसी पेड़ के दूसरी ओर बुद्ध आराम कर रहे है.

सुकरात और आईना सुकरात का प्रेरक प्रसंग | Socrates And The Mirror Socrates Prerak Prasang

यूनान के महान दार्शनिक सुकरात सुदर्शन नहीं थे. उनका चेहरा कुरूप था. एक दिन अपने कक्ष में बैठकर वह आईने में अपना चेहरा देख रहे थे. तभी उनके एक शिष्य ने कक्ष में प्रवेश किया. सुकरात को आईना देखते हुए पाकर शिष्य के होंठों पर मुस्कराहट तैर गई. यह देख सुकरात समझ गए कि उसके मस्तिष्क में क्या चल रहा है.

सकारात्मक ऊर्जा पंडित नेहरु का प्रेरक प्रसंग | Sakaratmak Urja Pandit Nehru Prerak Prasang

भारत के प्रथम प्रधानमंत्री के पद पर आसीन होने के उपरांत पंडित जवाहर लाल नेहरु एक समारोह में सम्मिलित होने लंदन गए. वहाँ उनकी मुलाकात चर्चिल से हुई. चर्चिल नेहरु जी के आलोचक थे. वे सदा उनकी आलोचना किया करते थे लेकिन उस समारोह में आमने-सामने आने पर दोनों नेता सौहार्द भाव से एक-दूसरे से मिले और बहुत देर तक विभिन्न मुद्दों पर बातें करते रहे.

विवेक की शक्ति : सुकरात का प्रेरक प्रसंग | Vivek Ki Shakti Socrates Prerak Prasang

एक दिन एक ज्योतिष यूनान के प्रसिद्ध दार्शनिक सुकरात के पास पहुँचा. उस समय सुकरात अपने शिष्यों के साथ बैठकर चर्चा कर रहे थे.
वहाँ पहुँचकर ज्योतिष अपनी ज्योतिष विद्या के बारे में बड़े-बड़े दावे करने लगा. उसने बताया कि वह व्यक्ति का चेहरा देखकर उसके चरित्र के बारे में बताने में सक्षम है.

समस्या का समाधान : गौतम बुद्ध का प्रेरक प्रसंग | Samasya Ka Samadhan Gautam Buddha Prerak Prasang

एक बार गौतम बुद्ध कौशाम्बी गए. कौशाम्बी नरेश की महारानी उनसे घृणा करती थी. इसलिए वह कुछ लोगों को उन्हें अपमानित करने के उद्देश्य से उनके पास भेजने लगी. वे लोग बुद्ध से दुर्व्यवहार कर उन्हें परेशान किया करते थे. बुद्ध के शिष्य आनंद जो सर्वदा उनके साथ रहते थे, वे भी इस दुर्व्यवहार से परेशान थे.

जली हुई रोटियाँ डॉ. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम का प्रेरक प्रसंग | Jali Hui Rotiyan Dr APJ Abdul Kalam Prerak Prasang

बात उस समय की है, जब डॉ. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम छोटे बच्चे थे. एक रात वे अपने माता-पिता के साथ भोजन कर रहे थे. भोजन करते हुए उनकी दृष्टि अपने पिता की प्लेट पर गई. उन्होंने देखा कि उनकी माँ ने उन्हें जो रोटियाँ परोसी हैं, वे जली हुई हैं.

समय अमूल्य है  महात्मा गाँधी का प्रेरक प्रसंग | Time Is Precious Mahatma Gandhi Prerak Prasang 

उन दिनों महात्मा गाँधी साबरमती आश्रम में रहा करते थे. एक दिन पास ही के गाँव के कुछ कार्यकर्ता गाँधी जी से मिलने आये. उन्होंने अपने गाँव में एक सभा का आयोजन किया था, जिसमें वे गाँधी जी को संबोधन के लिए आमंत्रित करना चाहते थे.

अनुसरण गौतम बुद्ध का प्रेरक प्रसंग | Anusaran Gautam Buddha Prerak Prasang

एक व्यक्ति गौतम बुद्ध का प्रवचन सुनने रोज आया करता था और बड़े ही तन्मयता और ध्यान से उनकी बातें सुना करता था. बुद्ध अपने प्रवचनों में लोभ, मोह, द्वेष और अहंकार त्याग कर जीवन में परम लक्ष्य प्राप्ति के लिए उपदेश दिया करते थे. एक दिन वह व्यक्ति गौतम बुद्ध के पास आया और…

सुख प्राप्ति का मार्ग चाणक्य प्रेरक प्रसंग | Sukh Prapti Ka Marg Chanakya Prerak Prasang 

यह वृत्तांत उस समय का है, अब चन्द्रगुप्त मौर्य ने भारत को साम्राज्य के रूप में संगठित कर मौर्य साम्राज्य की स्थापना की. राज्याभिषेक के पूर्व चाणक्य उनके पास पहुँचे और उनसे पूछा, , “ये मैं क्या सुन रहा हूँ चन्द्रगुप्त, तुम मगध का सम्राट नहीं बनना चाहते हो?”

जुल्म मत सहो स्वामी विवेकानंद का प्रेरक प्रसंग | Zulm Mat Saho Swami Vivekanand Prerak Prasang

एक बार स्वामी विवेकानंद रेल में यात्रा कर रहे थे. वे जिस कोच में बैठे थे, उसी कोच में एक महिला भी अपने बच्चे के साथ यात्रा कर रही थी. एक स्टेशन पर दो अंग्रेज अफसर उस कोच में चढ़े और महिला के सामने वाली सीट पर आकर बैठ गये.